Jan 29, 2014

Happy New Year!

Before the feeling of New Year goes away with passing of January, let me share what I wrote with true heart, on the birth of this year.


आओ लिखे हम-तुम
कुछ नयी बातें
आओ रचें हम-तुम
कुछ नयी यादें।

बीते सालों पर आओ करे पर्दा
देखे सूरज जो उग रहा
गुनगुनी धुप में आओ बैठे हम तुम
देखे ख्वाब एक नया सा।

जो बीत गए है लम्हें
फिसल गए जो हाथों से पलछिन
आओ भूल चले उन्हें हम-तुम
बनाये लक्ष्य एक नया सा। 

जीवन चलते समय- सा
कुछ समेटता-सा कुछ पीछे छूटता-सा
आओ छोड़ चले वो बातें
बनाये जीवन एक नया सा।

बहुत हुआ मेरा-तेरा
जीवन में करे कुछ नेक सा
आओ कर्मभूमि-से इस जग में
बनाये मोक्ष कुछ नया सा
एक नयी उमंग, नए हौसले सा।

New years are always a new beginning to me. To continue walking towards the goals in a new determined state, with fresher enthusiasm is what it always means to me. Let's dust the old times, cherish the learnings from them and move on with focus, with devotion and with energy. Wishing all of you a great 2014.

{Image Courtesy: Google}



4 comments:

  1. काफी उम्दा रचना....बधाई...
    नयी रचना
    "सफर"
    आभार

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद राहुल.

      Delete
  2. आशा और उम्मीद लिए नव वर्ष रचना ...
    बहुत लाजवाब ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. बिलकुल सही.. आशा है यह साल आशा बनी रहे और हर एक स्वप्न के लिए हम बेजोड़ मेहनत करते रहे।
      धन्यवाद दिगम्बर जी

      Delete