Feb 16, 2017

चाय और तुम


एक के बाद 
एक और, उसके बाद 
कई और 
चाय की प्यालियों की चुस्कियाँ 
अक्सर मुझे नहीं उबारती 
तुम्हारी यादों की तलब से। 
कम्भख्त ये तो 
मीठी अदरक-वाली चाय 
में भी 
नशा भर देती है 
और दिन ढलने पर रह जाते है 
यादों में डूबे शब्द 
और 
कई खाली पड़े 
चाय के प्याले। 


Image Courtesy: Google Images

No comments:

Post a Comment